Sabka Vishwas Scheme – सबका विश्वास योजना (विरासत विवाद समाधान) SVLDRS


sabka-viswas-virasat-vivad-samadhan-yojana-notification

सबका विश्वास योजना भारत सरकार केंद्रीय अप्रत्यक्ष कर और सीमा शुल्क बोर्ड द्वारा शुरू किया गया है। इस योजना को विरासत विवाद समाधान योजना (SVLDRS) भी कहते हैं। https://cbic-gst.gov.in/ वेबसाइट पर इस योजना से सम्बंधि जानकारी विस्तार में दी गयी है। इस योजना को लिगेसी डिस्प्यूट रेसोलुशन स्कीम के नाम से जाना जाता है।

qtoken

Objectives of Sabka Vishwas Scheme (Virasat Vivad Samadhan Yojana)

विरासत विवाद समाधान योजना के क्या उद्देस्य हैं ? सबका विश्वास योजना किस लक्ष्य से शुरू किया गया है ?

  • कोबीय उत्पाद शुल्क एवं सेवा कर के पूर्व विवादों के निस्तारण का एक ही बार में उपाय
  • गैर अनुपालक करदाताओं को स्वैच्छिक प्रकटन का अवसर प्रदान करना ।
sabka viswas virasat vivad samadhan yojana notification
sabka viswas virasat vivad samadhan yojana notification

Cases under Sabka Vishwas Yojana – SVLDRS

सबका विश्वास योजना के अंतर्गत आने वाले मामले –

  • 30 .06.2019 की स्थिति अनुसार लंबित कारण बताओ नोटिस या किसी कारण बताओ नोटिस के प्रत्युत्तर में की गई लंबित अपीला
  • बकाया राशि
  • कोई जांच , अन्वेषण अथवा लेखापरीक्षा जिसमे राशि 30.06.2019 या इससे पहले निर्धारित कर दी गई हो ।
  • स्वैच्छिक प्रकटन

Cases forbidden under Sabka Vishwas Yojana – SVLDRS

सबका विश्वास योजना योजना के अंतर्गत नहीं आने वाले मामले –

  • केंद्रीय उत्पाद शुल्क अधिनियम , 1944 की चौथी अनुसूची में उल्लिखित उत्पाद शुल्क योग्य माल से संबंधित मामले ( इनमें तंबाकू और विनिर्दिष्ट पेट्रोल उत्पाद शामिल हैं ।
  • वे मामले जिनमें करदाता केंद्रीय उत्पाद शुल्क अधिनियम , 1944 | अथवा वित्त अधिनियम , 1994 के अंतर्गत दोषी सिद्ध हुआ हों ।
  • दोषपूर्ण रिफंड के मामले ।
  • निपटान आयोग के समक्ष लंबित मामले ।

SVLDRS – Sabka Vishwas Scheme Benefits

विरासत विवाद समाधान योजना के क्या लाभ हैं और इस से किसे फायदा मिलेगा ? सबका विश्वास योजना के फायदे –

  • व्याज , पेनल्टी व जुर्माने की पूर्ण माफी अभियोजन से मुक्ति ।
  • अपिनिर्णयन अपया अपील के लंबित मामले में , शुल्क की मांग में 70 % की छूट यदि यह रू . 50 लाख या इससे कम हो और 50 % की छूट यदि यह स . 50 लाख से अधिक हो ।
  • अन्वेषण और लेखापरीक्षा के अधीन मामलों में भी यही लूट जिनमें निहित शुल्क 30 . 06 . 2019 को या इससे पहले निर्धारित किया गया हो ।
  • बकाया राशि के मामले में पुष्ट शुल्क राशि की 60 % राशि की . छूट दी जाएगी यदि यह राशि रू . 50 लाख या इससे कम से और अन्य मामलों में यह 40 % होगी ।
  • स्वैच्छिक प्रकटन के मामलों में घोषणाकर्ता को घोषित किए गए शुल्क की पूरी राशि का भुगतान करना होगा ।
  • भुगतान किए जा चुके शुल्क के समायोजन की सुविधा ।
  • निपटान हेतु बकाया का भुगतान नकद में केवल इलेक्ट्रोनिक रूप से किया जाएगा और इसका लाभ बाद में इनपुट टैक्स क्रेडिट के रूप मे नहीं लिया जा सकेगा ।
  • प्रश्नगत कार्यवाही का पूर्ण व अंतिम निपटान । इसमें केवल यही अपवाद है कि देयता के स्वैचिक प्रकटन के मामले में एक वर्ष की अवधि के भीतर गलत घोषणा के मामले की दोबारा जांच किए जाने का प्रावधान है ।
  • योजना के अधीन कार्यवाही को पूर्व व भविष्य की देयताओं के उदाहरण के रूप में नही माना जाएगा ।
  • अंतिम निर्णय की सूचना आवेदन के 60 दिनों के भीतर दी जाएगी ।
  • किसी असहमति की स्थिति में व्यक्तिगत सुनवाई का अवसर दिए बिना कोई अंतिम निर्णय नहीं लिया जाएगा ।
  • योजना के अंतर्गत कार्यवाही पूर्णतः स्वचालित होगी ।

About Sabka Vishwas Yojana 2020

Name of SchemeSabka Vishwas Scheme
Other NamesVirasat Vivad Samadhan Yojana, SVLDRS
Launched byNarendra Modi
MinistryMinistry of Finance
Official websitehttps://cbic-gst.gov.in/
Launch Date01 Sep 2019
SVLDRS Login Pagehttps://cbic-gst.gov.in/cbec-portal-ui/

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *