भुगतान की स्थिति की जानकारी हिंदी में – Payment Status 2020

सरकार के विभिन्न योजनाओ के लिए भुगतान ऑनलाइन किया जाता है। सभी भुगतान सीधा बैंक अकाउंट में आते हैं। कभी कभी लाभार्थी के अकाउंट में समस्या होने के कारन भुगतान वक़्त पर नहीं हो पाता। ऐसे में लाभार्थी चाहते हैं की वो भुगतान स्थिति देख पाए। इसके लिए सरकार ने हर योजना के भुगतान स्थिति देखने हेतु अलग अलग पोर्टल या वेबसाइट का निर्माण किया है।

भुगतान स्थिति क्या होती है ?

भुगतान स्थिति का मतलब है आपके अकाउंट में पेमेंट का स्टेटस क्या है। भुगतान एक प्रक्रिया के माध्यम से होता है। इसमें कई कार्यालय शामिल होते है। हर कार्यालय का काम होता है की वो अपने यहाँ की भुगतान स्थिति को अपडेट करे।

  • अगर बैंक में आपका पेमेंट जमा हो चूका है तो भुगतान की स्थिति डेपोसिटेड दिखती है।
  • अगर वो पैसा आपके अकाउंट में डाल दिया गया है तो भुगतान की स्थिति क्रेडिटेड दिखने लगती है।
  • किसी कारण से आपका पैसा अकाउंट में जमा हो गया है पर खाते में अपडेट नहीं हुआ है , तो वह पेंडिंग पेमेंट स्टेटस दिखायेगा।
  • अगर पैसा जमा होने में कोई तकनिकी समस्या आ गयी है तो भुगतान की स्थिति फेल्ड बता सकती है।
  • अगर बैंक को आपके ट्रांसक्शन में कोई गड़बड़ी समझ में आती है तो बैंक आपके पेमेंट स्टेटस को डिक्लाइन भी कर सकता है।
  • कभी कभी पेमेंट स्टेटस initiated दिखता है जिसका मतलब होता है की भुगतान शुरू कर दिया गया है पर अभी कम्पलीट नहीं हुआ है।

इस प्रकार से अलग अलग हालात में भुगतान की स्थिति अलग अलग बताई जाती है।

सरकारी योजनाओ की भुगतान की स्थिति

भारत सरकार या राज्य सरकार अधिकतम सरकारी योजनाओ के भुगतान ऑनलाइन करती है। वैसे में मुमकिन है की भुगतान पेंडिंग या फेल्ड हो जाये। लाभार्थी के खाते में पैसे नहीं आते हैं और लाभार्थी चिंतित हो जाता है।

वैसे में लाभार्थी को चाहिए की वह योजना के आधिकारिक वेबसाइट पर जाए और भुगतान की स्थिति देखे। सभी योजनाओ की भुगतान स्थिति उनके ऑनलाइन पोर्टल पर डाली जाती है। इसके लिए आपको अपने अकाउंट नंबर , आधार नंबर या पेमेंट रिफरेन्स नंबर की जरुरत पड़ती है।

कुछ योजनाओ की भुगतान स्थिति यहाँ डाली गयी है –

Check 2020 Payment Status of Various Schemes